क्या रंग तय करता है वजूद

रंग - रंग का भेद ना कर
है खून सबका लाल
काला गोरा क्या करते हो
क्यों देखते हो खूबसूरती तुम बस गोरे रंग में ?
लोगो की खूबियां क्यों पहचान
लेते हो तुम उनके रंग से?
जिस शरीर के काले रंग पर हस्ते हो
क्यों फिर काले रंग के कपड़े तुम पहनते हो ?
रंग देखके दोस्ती करते हो
क्यों तुम काले रंग को अपनाने से झिझकते हो?
क्यों दिखाते हो तुम भेद भाव
इस काले रंग का बस इंसानों में?
काला रंग तो श्री कृष्ण और मां काली का भी है
जिन्हे पूजते हो तुम दिन रात
कहा चला जाता है तुम्हारा यह भेद भाव
जब तुम वन में जाते हो जानवरों को देखने
हाथी, भालू , गोर्रिला भी तो होते है काले रंग के
फिर क्यों तुम बस इंसानों में ही
तेय करते हों वजूद उनके रंग से?

शेफाली साहु
By 
Loved it? Explore the Social section to get in touch with all the writers and readers!
Trivia!

No additional information here!